सरकारी टीचर कैसे बनें पूरी जानकारी 2022

हमारे भारत देश में सरकारी टीचर को बहुत ज्यादा सम्मान दिया जाता है और भारत में सरकारी टीचर जॉब सबसे अधिक मांग वाले व्यवसायों में से एक मानी जाती है। नौकरी की सुरक्षा, सम्मान,दर्जा और काम के कुछ घंटे ,मस्त पैसे  ऐसे फैक्ट जो कैंडिडेट को सरकारी टीचर बनने की और आकर्षित करते है.

तो सवाल आता है की सरकरी टीचर कैसे बने (How To Become A Government School Teacher)  goverment टीचर बनने के लिए 12वीं के बाद क्या करें? क्या आयु होती हैं , कोनसा एग्जाम देना होता है , और कैसे एक अच्छे टीचर बन सकते है । आप लोग तो जानते ही होंगे आजकल के बच्चे कितने तेज दिमाग वाले होते है जिनके पास प्रश्नो का जाल रहता है जो एक  टीचर के पास हर सवालो का ज़वाब रहता है।

इसलिए जो स्टूडेंट अपना करियर टीचिंग फिल्ड में बनाना चाहते है और बच्चो को पढ़ाने में काफी इंट्रेस्ट रखते है।  वह टीचिंग फिल्ड में अपना करियर जरूर बना सकते है लेकिन एक सरकारी टीचर बनने के लिए आपको इसकी सटीक जानकरी जरूर होनी चाहिए तभी जाकर आप एक अच्छे सरकारी टीचर बन सकते है जिसमे आगे कभी आपको कोई दिक्क्त न रहे ।

हम इस लेख में सरकारी ,प्राइवेट टीचर आदि के बारें में एजुकेशन, कोर्स, एग्जाम और सैलरी  की बात करेंगे बहुत सी जानकारी आपको इस लेख में मिलेंगी इसलिए लेख को पूरा जरूर पड़े।

सरकारी टीचर कैसे बनें full details 

सरकारी टीचर कैसे बने

सरकारी टीचर बनने के लिए प्रोसेस

स्टेप  – सबसे पहले किसी भी विषय या स्ट्रीम से 12 वी पास करें।

स्टेप – अब किसी भी मान्यता विश्वविद्यालय या कॉलेज से ग्रेजुएशन को पूरा करें।

स्टेप – प्लस बीएड कोर्स करने के लिए आप अपने मन पसंद के विषय का चुनाव करें।

स्टेप – अब सरकार द्वारा कंडक्ट किये जाने वाले एग्जाम TET/CTET का फॉर्म भरे।

स्टेप – TET/CTET  एग्जाम को क्लियर करें।

उसके बाद आप एक सरकारी टीचर के रूप में जाने जाते है।

 हर साल, लाखों उम्मीदवार भारत भर में विभिन्न सरकारी टीचर नौकरियों के लिए आवेदन करते हैं। समय, नौकरी की सुरक्षा और पेशे से जुड़ी सम्माननीयता जैसे कई कारकों के कारण टीचर सबसे अधिक मांग वाली नौकरियों में से एक माना जाता है। एक टीचर अपने छात्रों के भविष्य को आकार देने के लिए जिम्मेदार होता है।

नौकरी की जिम्मेदारी बहुत बड़ी होती है, इसलिए सरकारी टीचर की चयन प्रक्रिया को इच्छुक शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया को लाभ पहुंचाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इस लेख में, हम शिक्षक बनने की प्रक्रिया और उसके लिए पात्रता मानदंड पर चर्चा करेंगे।

सरकारी टीचर बनने के लिए आपके पास न्यूनतम 55% आंको के साथ बी. एड.डिग्री बैचलर ऑफ़ एजुकेशन होना आवश्यक होता है। आवश्यक प्रतिशत मार्क्स  सभी प्रकार के स्कूल में अलग- अलग हो सकते है।

eligibility criteria स्नातक होता है। डिप्लोमा इन एजुकेशन (डी. एड), बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट (बीटीसी), और टीचर ट्रेनिंग सर्टिफिकेट (टीटीसी) जैसे पोस्ट-ग्रेजुएशन कोर्स उम्मीदवारों को प्री-स्कूल टीचिंग जॉब पाने में मदद कर सकते हैं।

अगर आप टीचर बनना चाहते है तो सबसे पहले आपको यह मालूम होना चाहिए की टीचर्स  कितने प्रकार के होते है। जो  हमें  स्कूल और कोलेज में पढ़ाते है तो यह 3 प्रकार के टीचरस होते है जिनसे हम पढ़ते है। यह क्लास वाइड रहते है जैसे –

सरकारी शिक्षक 4 भागो में बाँट हुआ है 

  • Pre- Primary Teacher
  • Primary Teacher (PRT)
  • Trained Graduate Teacher (TGT)
  • Post Graduate Teacher (PGT)

प्री-प्राइमरी टीचर 

जैसा कि नाम से पता चलता है, यह पोस्ट प्री-प्राइमरी टीचिंग जॉब के लिए है। नर्सरी या किंडरगार्टन की कक्षाओं को पढ़ाने के लिए टीचर  जिम्मेदार होते हैं। इसमें टीचर प्राथमिक विद्यालय 3 वर्ष की आयु – लगभग 5 वर्ष की आयु) के शुरुआत बच्चों को सँभालते या पढ़ाते है ।

आयु सीमा: इसमें में किसी भी डिप्लोमा और प्रमाणन पाठ्यक्रम के लिए अध्ययन करने की कोई आयु सीमा नहीं है। कोई न्यूनतम आयु निर्धारित नहीं है लेकिन शिक्षा पात्रता मानदंड के अनुसार, आवेदकों की आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए।

प्राइमरी टीचर

यह वह टीचर होते है जो 1th क्लास से लेकर 5th क्लास तक के बच्चों को पढ़ाते है। अगर आप प्राइमरी टीचर बनना चाहते है या पहली से पाँचवी के बच्चों को पड़ना चाहते है तब आप प्राइमरी टीचर कहलायेंगे।

इसके लिए योग्यता 12th पास के साथ मिनिमम 50% मार्क्स होना जरुरी होता है। किसी भी स्ट्रीम या विषय से आपको 12th पास करनी है उसके बाद आपका बीएड कंपलीट होना चाहिए।

12th के बाद बीएड कोर्स करते है तो यह कोर्स 4 साल का होता है। जो नयी शिक्षा नीति है उसके दौरान टीचर बनने के लिए  यह चेंजिंग की गयी है की बीएड (Bachelor Of Education) का होना कम्पलसरी है।

ट्रेनड ग्रेजुएट टीचर

इस  प्रकार के टीचर 6th क्लास से लेकर 10th क्लास तक के बच्चों को पढ़ाते है। अगर आपकी रूचि सटैंडर्ड क्लास के बच्चों को पढ़ाना है तब आपकी क्वालिफिकेशन अंडर ग्रेजुएट के साथ B.Ed (Bachelor Of Education) की डिग्री भी होनी चाहिए। यह कोर्स दो साल का रहता है। इसके द्वारा बनने वाले टीचर को ट्रेनड ग्रेजुएट टीचर कहते है।

पोस्ट ग्रेजुएट टीचर

इस टाइप के टीचर हाई लेवल क्लास 11th +12th के स्टूडेंट को पढ़ाते है। अगर आप इस प्रकार के टीचर बनना चाहते है तब आपकी इसमें क्वालिफिकेशन पोस्ट ग्रेजुएट का कम्पलीट होना आवश्यक रहता है यानी पीजीटी बनने के लिए आपके के पास संबंधित विषय में पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री (एमएस या एमएससी) होनी चाहिए इसके बाद आपको B.Ed (Bachelor Of Education) की डिग्री की जरूरत होती है जो की 1 साल का कोर्स होता है।

हिंदी, अंग्रेजी, गणित, रसायन विज्ञान, भौतिकी, जीव विज्ञान, इतिहास, भूगोल, वाणिज्य और अन्य विषयों में स्नातकोत्तर डिग्री वाले उम्मीदवार नौकरी के लिए पात्र होते हैं। लेकिन उम्मीदवार के चुने हुए विषय के साथ पात्रता मानदंड (ELIGIBILITY  CRITERIA ) अलग-अलग हो सकती  हैं।

सरकारी टीचर बनने के लिए अन्य कोर्सेस

सरकारी शिक्षक बनने के लिए कई कोर्स हैं। उनमें से कुछ इस प्रकार हैं-

Diploma in Elementary Education (D.El.Ed)

यह उन उम्मीदवारों के लिए 2 साल का डिप्लोमा प्रशिक्षण पाठ्यक्रम है जो प्री-प्राइमरी कक्षाओं के छात्रों को पढ़ाना चाहते हैं। इस कोर्स को करने के लिए उम्मीदवारों ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम 60% कुल अंकों के साथ 10+2 किया हो। इसके बाद उम्मीदवार इस डिप्लोमा कोर्स को कर सकते हैं और सरकारी शिक्षक बन सकते हैं।

Bachelor of Education (B.Ed)

बैचलर ऑफ़ एजुकेशन उन उम्मीदवारों के लिए 3 साल का डिग्री कोर्स है जो सरकारी शिक्षक बनना चाहते हैं और माध्यमिक या वरिष्ठ माध्यमिक कक्षाओं को पढ़ाना चाहते हैं। यह डिग्री कोर्स कम से कम 50% अंकों के साथ 10+2 पूरा करने के बाद या कोई ग्रेजुएशन डिग्री करने के बाद किया जा सकता है।

Bachelor of Physical Education (B.P.Ed)

बैचलर ऑफ फिजिकल एजुकेशन भी उम्मीदवार के लिए 3 साल का डिग्री कोर्स है जो सरकारी शारीरिक शिक्षा शिक्षक बनना चाहते है। तो  इस डिग्री को प्राप्त करने के लिए उम्मीदवारों को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम 50% कुल अंकों के साथ 10 + 2 करना चाहिए।

अन्य कोर्स लिस्ट  

  • Elementary Teacher Education Program
  • Pre-School Teacher Education Program
  • Bachelor of Physical Education (B.P.Ed.) Program
  • Diploma in Education (D.Ed.)
  • Physical Education Program (C.P.Ed.)
  • Master of Education Program (M.Ed.) (Part-Time)
  • Bachelor of Education (B.Ed) (Open and Distance Learning System)
  • Nursery Teacher Education Program
  • Master of Education Program (M.Ed.)
  • Master of Education Program (M.Ed.) (Open and Distance Education Learning System)

सरकारी टीचर के लिए इंट्रेंस एग्जाम टेस्ट 

यह सरकारी टीचर  PT , TGT ,PGT  बनने के लिए आपको कुछ सरकारी टेस्ट देने होते है जिसको हम टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (TET) कहते है यह दो तरह के होते है पहला सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट दूसरा स्टेट टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट।अगर आप सरकारी टीचर बनना चाहते है तो यह आपके एलिजिबिलिटी पर निर्भर करता है।

TET टेस्ट

TET का अर्थ Teacher Eligibilty Test होता है हिंदी में इसे शिक्षक पात्रता परीक्षा कहते है। यदि आप सरकारी टीचर बनना चाहते है तब आपको टेट एग्जाम देना है इस परीक्षा को पास करके किसी भी राज्य स्कूल में  टीचर के योग्य हो जाते है। इसमें दो तरह के एग्जाम होते है।

पहला पेपर – कक्षा 1 से लेकर कक्षा 5 तक के टेस्ट  और दूसरा पेपर – कक्षा 6 से लेकर कक्षा 8 तक के टेस्ट।
दोनों पेपर को पास करके आप प्राथमिक और जूनियर में सरकारी टीचर बन सकते है। यह परीक्षा राज्य सरकार द्वारा आयोजित  की जाती  है और टीचर बनने के बाद आप अपने राज्य में ही टीचर बनेंगे

TET योग्यता

  • 12 वी पास के बाद यदि आपका बीएड कम्पलीट है और उसके साथ 45 – 55 प्रतिशत मार्क्स है तब आप यह एग्जाम दे सकते है।
  • ग्रेजुएशन के बाद यदि आपने बीएड किया है तब भी आप यह एग्जाम देने के योग्य होते है।
  • अगर आप कोर्स के लास्ट ईयर में है तब भी आप कोर्स कर सकते है।
  • और यदि आपने बीएड कोर्स नहीं किया है इसके जगह आपने कोई डिप्लोमा कोर्स किया है जैसे की डीएड , डीएलएड तब भी आप एलिजिबल रहते है।

CTET टेस्ट

CTET का मतलब (central teacher eligibility test) होता है। यह भी एक  केंद्र सरकार द्वारा आयोजित एक केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा है। इस परीक्षा को वही लोग दे सकते है जो बीएड या डीएलएड कोर्स कर चुके हों।

इसमें भी दो तरह की परीक्षा होती है। पेपर फर्स्ट और पेपर सेकंड दोनों परीक्षाओं को पास करके आप  प्राथमिक और जूनियर सरकारी टीचर बन सकते है।  ctet को पास करके आप केंद्रीय विद्यालय में  टीचर बनने के योग्य हो जायेंगे। भारत के किसी भी राज्य में आप टीचर बन सकते है। यह एक वर्ष में दो बार आयोजित किया जाता है।

CTET योग्यता 

  • पेपर फर्स्ट (1th  – 5th) के लिए 12 वी पास में मिनिमम 50% मार्क्स और इसके साथ दो साल डिप्लोमा ,D.EL.ED/B.EL.ED/B.ED  होना चाहिए। इन कॉर्स में से कोई एक डिप्लोमा होना ही चाहिए।
  • पेपर सेकंड (6th – 8th) के लिए ग्रेजुएशन के साथ 50 % मार्क्स D.EL.ED/B.EL.ED/B.ED  होना चाहिए।

 सरकारी टीचर के लिए रोजगार के अवसर

  • सरकारी स्कूल में  पड़ा सकते है।
  • प्राइवेट स्कूल में डायरेक्ट इंटरव्यू देकर टीचर बन सकते है , इससे भी आपकी अच्छी खासी कमाई हो जाती है।
  •  पब्लिक स्कूल में भी पड़ा सकते है।
  • आर्ट कॉलेज और म्यूजिक एकेडेमिक्स में टीचर  बन सकते है।
  • टेक्निकल यूनिवर्सिटी एप्रूव्ड – AICTE
  • डिफेंस स्कूल – APS ,AIR FORS स्कूल में
  • प्राइवेट स्कूल – G.D. टैगोर इंटरनेशनल स्कूल आदि बहुत से अवसर है ।

1 thought on “सरकारी टीचर कैसे बनें पूरी जानकारी 2022”

Leave a Comment