IAS kaise bante hain puri jankari 2024 – जानिये IAS कैसे बने 12th के बाद 

IAS kaise bante hain : जो भी कैंडिडेट आने वाले समय में IAS बनने के बारे में सोच रहा है या प्लान बना चूका  है लेकिन  उनके मन में यह दुविधा बार – बार सामने आती है की वह आईएएस बनने के लिए ऐसा क्या करे की  सही तरीके से गाइडेंस  मिल सके और तैयारी सही से हो सके। 

इसलिए आज हम आपको IAS Kaise Bane  इसके बारे में सम्पूर्ण जानकरी देने जा रहे है जिससे आपको आपकी तैयारी में कोई दिक्क्त आगे न हो सके।देखा जाए तो हर साल UPSC (संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा परीक्षा) IAS के चुनाव के लिए एग्जाम कंडक्ट कराती है जिसमे से कुछ ही चुने गए कैंडिडेट सेलेक्ट किये जाते है और उन्हें  रैंक  के अकॉर्डिंग पद की उपलब्धि दी जाती है।

IAS Books in Hindi 1
IAS kaise bante hain

Table of Contents

IAS kaise bante hain – IAS अधिकारी कौन होता है ?

IAS (Indian Administrative Service) ऑफिसर बनने के लिए आपको UPSC परीक्षा को पास करना जरूरी होता है। UPSC परीक्षा में तीन चरण होते हैं, UPSC प्रीलिम्स, UPSC मेन्स और साक्षात्कार। IAS ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले UPSC सिलेबस को विस्तार से समझना चाहिए। 

1. प्रारंभिक परीक्षा पास करे (Preliminary Examination)

IAS बनने के लिए सबसे पहले आपको UPSC (Union Public Service Commission) का Civil Services प्रारंभिक परीक्षा में भाग लेना होता है। इस परीक्षा को पास करने के बाद ही आप मुख्य परीक्षा में भाग ले  सकते है ।

  • यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न में दो पेपर शामिल होते हैं: सामान्य अध्ययन पेपर 1 और CSAT पेपर 2 दोनों एमसीक्यू-आधारित पेपर होते हैं जिनमें प्रत्येक प्रश्न के साथ चार विकल्प होते हैं, जिनमें से उम्मीदवार को एक सही उत्तर को चिह्नित करना होता है। दोनों पेपर 200 -200 मार्क्स के रहते है। प्रश्न सही करने पर आपको 2 अंक दिए जाते है।
  • पहले पेपर (जनरल स्टडीज) में 100 प्रश्न होते है और दूसरे पेपर (CSAT) में 80 प्रश्न पूछे जाते है।यह एग्जाम हिंदी या इंग्लिश दोनों भाषाओं को प्रेफर करता है।
  • आप किसी एक भाषा को चुन कर इस एग्जाम को दे सकते। यह आप पर निर्भर करता है की आप किस भाषा में कन्फर्टेबल है। लेकिन प्रिलिम्स एग्जाम में 1/3 माइनस मार्किंग रहती है।

2 . मुख्य परीक्षा पास करे  (Main Examination)

  •   जैसे ही प्रिलिम्स एग्जाम को पास कर लेते है उसके बाद आती है मेंस की बारी जिसे निकालना अभ्यर्थी के लिए बड़ा टास्क होता है। 
  • यह लिखित एग्जाम होता है जिसमे आप से टोटल 9 प्रकार के प्रश्न पत्र पूछे जाते है।इसमें दो पेपर लैंग्वेज के होते हैं जो क्वालीफाइंग बाकी 7 पेपर ऐसे होते है जिससे मेरिट लिस्ट तैयार होती है।
  • UPSC Mains एक ऑफलाइन परीक्षा है।प्रत्येक पेपर 250 -अंक और 3 घंटे का रहता है।

3 .साक्षात्कार को क्लियर करे (Interview)

  • मुख्य परीक्षा को पास करने के बाद, आपको साक्षात्कार के लिए बुलाया जाएगा। इस साक्षात्कार में आपके ज्ञान, व्यक्तित्व, सामाजिक और राजनीतिक जागरूकता को मूल्यांकन किया जाता है।
  • अगर आप साक्षात्कार में सफल होते हैं, तो आपको विभागीय प्रशासनिक अकादमी (LBSNAA) में ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता। इसके बाद, आपको विभिन्न स्तरों पर पदों पर नियुक्ति मिल सकती है।

IAS कैसे बनें ?- IAS kaise bane 

IAS बनने के लिए निचे आपको कुछ महत्वपूर्ण बिंदु बतायी गयी है जो एक कैंडिडेट के लिए फॉलो करना चाहिए।  UPSC भारत की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है। यह भारत सरकार की विभिन्न सिविल सेवाओं जैसे भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS ), भारतीय पुलिस सेवा (IPS ), और भारतीय विदेश सेवा (IFS ) के लिए उम्मीदवार का चयन करने के लिए एक परीक्षा  होती है।

1 .सबसे पहले आप 12वी पास करे

 IAS बनने के लिए सबसे पहले 12 वी पास करे उसके बाद ही आप UPSC एग्जाम में शामिल होने के बारे में विचार करे ताकि बीच की पढ़ाई में कोई रुकावट न आ सके। 12 वी के साथ आप एक काम जरुर कर सकते है वो है इस एग्जाम को समझना और इसके बारे में जानकारी एकत्रित करना ताकि आगे जाकर जब आप IAS की तैयारी करे तब आपको इस एग्जाम के बारे में सब कुछ मालूम हो जाना चाहिए। 

2 . Graduation कम्प्लीट करे 

12 वी  पास करने के बाद आपको अपना ग्रेजुएशन को पूरा करना है Graduation आप किसी भी विषय से पास कर सकते है लेकिन ग्रेजुएशन के साथ आप UPSC NCERT को कवर कर सकते है क्योकि यह NCERT बहुत महत्वपूर्ण होती है। किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री (Graduation) प्राप्त करें।

3 . UPSC सिलेबस और पैटर्न को समझे 

अब आप UPSC सिलेबस को समझे इसका सिलेबस आपको अच्छे तरीके से पता होना चाहिए। जहाँ आप तैयारी कर रहे है वहाँ पर आप सिलेबस को दीवार में लगा के रखे। एक – एक शब्द आपको मालूम होना चाहिए या याद रहना चाहिए। 

UPSC आईएएस का सिलेबस बहुत बड़ा होता है UPSC प्रीलिम्स सिलेबस और UPSC मेन्स सिलेबस जिसे समझ पाना थोड़ा कठिन होता है। आसानी से समझने के लिए आप यह पढ़ सकते है।  UPSC सिलेबस पीडीऍफ़ इन हिंदी 2024 डाउनलोड करे यूपीएससी सिलेबस और स्ट्रेटेजी जाने

4 . स्टडी टाइम टेबल बनाए 

यह एग्जाम बहुत ही कम्पटीशन वाला एग्जाम होता है हर साल में एक लाख से ज्यादा उमीदवार इस एग्जाम में बैठते है। इसलिए अगर आप इस एग्जाम को क्लियर करना चाहते है तब आपके पास एक स्टडी टाइम टेबल जरुर होना चाहिए।  

5 .  स्मार्ट स्ट्रेटेजी अपनाए 

अपने लक्ष्य को पाने के लिए एक स्मार्ट स्ट्रेटेजी बनाए।  हर  टॉपर्स की अपनी खुदकी बनायीं हुए एक स्मार्ट स्ट्रेटेजी होती है जो टॉपर्स फॉलो करते है जिसके थ्रू वह अपनी पढ़ाई से लेकर हर काम को पूरा कर लेते है खुदको मैनेज करके चलते है।  इसलिए पढ़ाई के लिए आपके पास एक स्ट्रेटेजी जरूर होनी चाहिए। 

6 . बेसिक UPSC NCERT से शुरुआत करे

 UPSC की तैयारी शुरू करने से पहले आपको 6 वी से लेकर 12वी तक की सभी विषयों को कवर कर लेना है इन्हे पड़ने से आपका बेसिक कॉन्सेप्ट क्लियर हो जायेगा तब जाकर आप एडवांस बुक को समझ पायेंगे ।

7. शॉर्ट नोट्स बनाए 

UPSC के एग्जाम में आपको बहुत पढ़ना पड़ता है और उन्हें याद रख पाना थोड़ा सा मुश्किल रहता है इसलिए अगर आपकी हैबिट है नोट्स बनाने की तो आप विषय के शॉर्ट नोट्स बना सकते है जिससे आपको रिवीजन में कोई दिक्कत नही आयेगी और आप शॉर्ट नोट्स रिवीजन आसानी से कर पाएंगे ।

8. रिवीजन बार बार करें 

रिवीजन UPSC की तैयारी के लिए एक महत्वपूर्ण पहलू होता है । मान लीजिए रिवीजन न करने से आपकी पूरी मेहनत पर पानी फिर सकता है। यानी बिना रिवीजन किए आप यह एग्जाम क्लियर नही कर पाएंगे।इसलिए आप जो भी पड़े उसका बार बार रिवीजन करे ताकि चीजे आपको याद रह सके।

  • साप्ताहिक और मासिक रिवीजन करें ताकि आपने जो पढ़ा है उसे भूलें नहीं।
  • नोट्स और हाइलाइट्स को नियमित रूप से रिवाइज करें।

9. पुराने पेपर का एनालिसिस करे

पिछले 5 से 6 साल तक के पुराने पेपर देखिए और समझे की UPSC क्या डिमांड चाहती है एक UPSC aspirants से । पेपर को ठीक तरीके से समझने के बाद आपको यह समझ आजाएगा की आपको क्या पढ़ना है और कैसे । 

10 . मॉक टेस्ट  दे 

जब आपकी थोड़ी सी तैयारी हो जाय तब आप मॉक टेस्ट दे आजकल ऑनलाइन बहुत मॉक टेस्ट अवेलबल है किसी भी बेस्ट वेबसाइट से मॉक टेस्ट दे। मॉक टेस्ट से आपको यह पता चलेगा कि कौन से विषय आपके कमजोर हैं। उन पर विशेष ध्यान दें और अधिक अभ्यास करें।

11. करंट अफेयर्स पर ध्यान दें

UPSC की तैयारी में करंट अफेयर्स पर ध्यान देना बेहद महत्वपूर्ण है। करंट अफेयर्स आपके प्रीलिम्स, मेन्स और इंटरव्यू तीनों चरणों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।द हिंदू या इंडियन एक्सप्रेस जैसे प्रमुख समाचार पत्रों को रोजाना पढ़ें। महत्वपूर्ण लेख और संपादकीय को नोट करें और समझें।

  • Vision IAS, InsightsIAS, और अन्य प्रमुख कोचिंग संस्थानों द्वारा प्रकाशित मासिक करंट अफेयर्स मटेरियल्स का अध्ययन करें।
  • ये मटेरियल्स समसामयिक घटनाओं का संक्षिप्त और सटीक विवरण प्रदान करते हैं।

इसके अलावा आपकी तैयारी करने की रणनीति और पुस्तकों का चुनाव ,अच्छी कोचिंग  के साथ एक अच्छे आईएएस अधिकारी बनने के लिए, आपको निरंतर अपडेट रहना होगा, उच्चतम स्तर की ईमानदारी, संघर्षशीलता, और सेवाभावना का भाव रखना होगा।

IAS कैसे बने 12th के बाद ?

  1. आईएएस बनने के लिए सबसे पहले आपको 12th पास करनी होती है। 12th आप किसी भी विषय से करे कोई इशू नहीं है। 
  2. आपके पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होना बहुत जरुरी होता है।  डिग्री किसी भी विषय में हो सकती है इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है की आपने किस स्ट्रीम से ग्रेजुएशन कम्पलीट किया है। लेकिन 45% से ऊपर मार्क्स होना जरुरी है।
  3. UPSC की प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Examination) के लिए तैयारी शुरू करें। सामान्य अध्ययन के पेपर में ध्यान दें जैसे कि इतिहास, भूगोल, भारतीय राजनीति, आर्थिक विकास, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, आदि। प्रारंभिक परीक्षा में पास होने के बाद, UPSC Main Examination की तैयारी करें।
  4. मुख्य परीक्षा पास करने के बाद, आपको साक्षात्कार (Interview) देना होगा। यह साक्षात्कार IAS, IPS, IFS और अन्य संघ लोक सेवाओं के लिए होता है।
  5. अच्छे से पढ़ाई करें, विषयों को समझें और परीक्षा के पैटर्न को ध्यान में रखें।
  6. साक्षात्कार की तैयारी के लिए सामान्य ज्ञान, करंट अफेयर्स, आत्म-विश्वास, और बोलचाल की आदतों को ध्यान में रखें।
  7. परीक्षा की तैयारी में निरंतरता और आत्म-संदर्भ बहुत महत्वपूर्ण होते हैं।

IAS का फॉर्म कैसे भरें?

IAS (UPSC सिविल सेवा परीक्षा) का फॉर्म भरने की प्रक्रिया को चरणबद्ध तरीके से समझाया गया है।

1. UPSC की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं

UPSC की आधिकारिक वेबसाइट upsconline.nic.in पर जाएं और लॉग इन करें। 

2. नोटिफिकेशन पढ़ें

सिविल सेवा परीक्षा की अधिसूचना (notification) को ध्यानपूर्वक पढ़ें और यदि आपका अकाउंट पहले से नहीं है तो नया अकॉउंट बनाय। पात्रता मानदंड, महत्वपूर्ण तिथियाँ, और अन्य आवश्यक जानकारी प्राप्त करें।

3. पंजीकरण (Registration)

    1. भाग I पंजीकरण वेबसाइट पर Examinations टैब में जाएं और “Online Application for Various Examinations of UPSC” पर क्लिक करें।
    2. Part I Registration लिंक पर क्लिक करें।
    3. सभी आवश्यक विवरण भरें जैसे कि नाम, जन्म तिथि, ईमेल आईडी, और फोन नंबर।
    4. सभी जानकारी भरने के बाद, पंजीकरण नंबर और पासवर्ड प्राप्त करें।
    5. भाग II पंजीकरण लिंक पर क्लिक करें।
    6. पंजीकरण नंबर और पासवर्ड का उपयोग करके लॉग इन करें।
    7. फोटो, हस्ताक्षर, और पहचान पत्र की स्कैन की हुई प्रतियाँ अपलोड करें।
    8. परीक्षा केंद्र, वैकल्पिक विषय (यदि मुख्य परीक्षा के लिए आवेदन कर रहे हैं), और अन्य विवरण भरें।

4. फीस का भुगतान करे 

  • ऑनलाइन माध्यम (डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग) या ऑफलाइन माध्यम (एसबीआई चालान) के द्वारा आवेदन शुल्क का भुगतान करें।
  • जनरल और ओबीसी उम्मीदवारों के लिए शुल्क ₹100 है। SC/ST/PWD और महिला उम्मीदवारों के लिए कोई शुल्क नहीं है।

5. फॉर्म को पुनः जाँचें और जमा करें

सभी आवश्यक जानकारी भरने के बाद, आवेदन पत्र को सबमिट करें। सुनिश्चित करें कि आपने सभी जानकारी को सही तरीके से भरा है और सभी आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड किया है।

  • सभी भरे हुए विवरणों की ध्यानपूर्वक जाँच करें।
  • किसी भी त्रुटि को ठीक करें।
  • फॉर्म जमा करें और जमा किए गए फॉर्म की प्रति अपने पास रखें।

6. प्रिंट आउट लें 

सफलतापूर्वक आवेदन सबमिट होने के बाद, आवेदन पत्र का प्रिंट आउट लें। इसे आपके भविष्य के उपयोग के लिए सुरक्षित रखें।

7. Admit Card आने पर चेक करे 

परीक्षा की तारीख से कुछ सप्ताह पहले, UPSC की वेबसाइट से अपना एडमिट कार्ड डाउनलोड करें। फॉर्म भरने से पहले सुनिश्चित करें कि आपके पास सभी आवश्यक दस्तावेज़ (जैसे पहचान पत्र, फोटो, हस्ताक्षर) तैयार हैं।अधिसूचना में दी गई सभी निर्देशों का पालन करें।अंतिम तिथि से पहले आवेदन जमा करना सुनिश्चित करें।

IAS प्रशिक्षण क्या होता है ? 

IAS (भारतीय प्रशासनिक सेवा) अधिकारियों का प्रशिक्षण एक व्यापक और गहन प्रक्रिया होती है, जिसका उद्देश्य नए अधिकारियों को प्रशासनिक, कानूनी, और प्रबंधकीय कौशलों से लैस करना होता है। इस प्रशिक्षण की शुरुआत लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी (LBSNAA), मसूरी में तीन से चार महीने के फाउंडेशन कोर्स से होती है, जिसमें सभी सिविल सेवाओं के नए चयनित अधिकारियों को भारत की सांस्कृतिक, राजनीतिक और सामाजिक संरचना की जानकारी दी जाती है।

इसके बाद, छह से सात महीने की प्रोफेशनल ट्रेनिंग (Phase I) होती है, जिसमें कानून, प्रबंधन, नीति निर्माण, और सार्वजनिक प्रशासन जैसे विषयों पर विस्तृत अध्ययन शामिल होता है। इसके बाद भारत दर्शन नामक एक अध्ययन दौरा होता है, जिसमें प्रशिक्षु अधिकारी देश के विभिन्न हिस्सों का दौरा कर विविध प्रशासनिक चुनौतियों का व्यावहारिक अनुभव प्राप्त करते हैं।

इसके बाद एक वर्ष की फील्ड ट्रेनिंग होती है, जिसमें अधिकारियों को किसी राज्य के जिला प्रशासन में कार्य करते हुए वास्तविक प्रशासनिक कार्यों का अनुभव दिया जाता है।

अंत में, Phase II ट्रेनिंग के लिए अधिकारी पुनः LBSNAA लौटते हैं, जहां वे फील्ड अनुभवों को साझा करते हैं और उन्नत प्रशासनिक सिद्धांतों का अध्ययन करते हैं। इस संपूर्ण प्रशिक्षण प्रक्रिया के माध्यम से, नए IAS अधिकारियों को प्रशासनिक कार्यों के लिए पूरी तरह से तैयार किया जाता है।

IAS वेतन क्या है ? 

एक आईएएस अधिकारी का वेतन भारत सरकार के कार्मिक मंत्रालय द्वारा तय किया जाता है। IAS (भारतीय प्रशासनिक सेवा) अधिकारियों का वेतन संरचना सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार निर्धारित होती है। IAS ऑफिसर की आरंभिक सैलरी  एक नए IAS अधिकारी, जो प्रशिक्षु (प्रोबेशनर) के रूप में सेवा में शामिल होता है, का मूल वेतन लगभग ₹56,100 प्रति माह होता है। सेवा में अनुभव और पदोन्नति के साथ, IAS अधिकारियों का वेतन भी बढ़ता है। सचिव स्तर के एक वरिष्ठ IAS अधिकारी का वेतन ₹2,50,000 प्रति माह तक हो सकता है। 

इसके अलावा, उन्हें महंगाई भत्ता (Dearness Allowance – DA), मकान किराया भत्ता (House Rent Allowance – HRA), और यात्रा भत्ता (Travel Allowance – TA) जैसे विभिन्न भत्ते भी मिलते हैं, जिससे कुल वेतन काफी बढ़ जाता है।इसके अतिरिक्त, IAS अधिकारियों को कई अन्य सुविधाएँ भी मिलती हैं, जैसे सरकारी आवास, आधिकारिक वाहन, और स्वास्थ्य सेवाएँ, जो उनके कुल मुआवजे और जीवन स्तर को और भी बेहतर बनाते हैं।

AS अधिकारी की भूमिकाएं और कर्तव्य क्या है ?

  1. सरकारी नीतियों और कार्यक्रमों का निर्माण और कार्यान्वयन करना। 
  2. बजट तैयार करना और सरकारी योजनाओं के लिए वित्तीय संसाधनों का प्रबंधन करना 
  3. जिला प्रशासन में कानून और व्यवस्था सुनिश्चित करना।
  4. ग्रामीण और शहरी विकास योजनाओं का प्रबंधन और निगरानी रखना। 
  5. जिले के प्रमुख अधिकारी के रूप में कार्य करना।
  6. भूमि राजस्व, कानून व्यवस्था, और विकास योजनाओं की निगरानी।
  7. संभाग के कई जिलों की समग्र प्रशासनिक निगरानी।
  8. सरकारी विभागों को कानूनी सलाह प्रदान करना।
  9.  भूमि विवादों का समाधान।
  10. विभिन्न सरकारी विभागों और एजेंसियों के बीच समन्वय स्थापित करना।
  11. केंद्र और राज्य सरकारों के बीच प्रशासनिक संपर्क के रूप में कार्य करना।
  12. प्राकृतिक और मानव निर्मित आपदाओं के समय राहत और पुनर्वास कार्यों का प्रबंधन।
  13. स्वास्थ्य, शिक्षा, और सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का क्रियान्वयन।
  14. जनता के साथ सीधे संपर्क में रहकर उनकी समस्याओं का समाधान करना।
  15. पर्यावरण संरक्षण और सतत विकास योजनाओं का प्रबंधन।
  16. विभिन्न योजनाओं और नीतियों की प्रगति की रिपोर्ट तैयार करना और रिकॉर्ड बनाए रखना।

 

IAS बनने के लिए क्या पढ़ना पड़ता है। 

IAS बनने के लिए आपको विभिन्न विषयों में अच्छी  जानकारी का होना बहुत जरुरी होता है जैसे कि भूगोल, इतिहास, भारतीय राजनीति, अर्थशास्त्र, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, सामाजिक विज्ञान, सामान्य ज्ञान, और वर्तमान मामलों, सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक घटनाओं को समझने की क्षमता भी विकसित करनी होती है।

IAS के लिए योग्यता क्या है। 

  • आपके पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होना बहुत जरुरी होता है।  डिग्री किसी भी विषय में हो सकती है इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है की आपने किस स्ट्रीम से ग्रेजुएशन कम्पलीट किया है।
  • 45% से ऊपर मार्क्स होना बहुत जरुरी है। 
  • भारतीय नागरिक होनी चाहिए।
  •  सामान्य श्रेणी के लिए 21 से 32 वर्ष तक की आयु होनी चाहिए। ओबीसी, एसटी और अन्य वर्गों के लिए आयु में छूट हो सकती है।

 

IAS बनने के लिए विषय क्या होते है 

IAS बनने के लिए बैसे किसी भी विशेष सब्जेक्ट के जरूरत नहीं होती है लेकिन यदि आपको इस एग्जाम के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी रखते है तब आप कुछ विषय जिन पर आपकी ध्यान और तैयारी की आवश्यकता होती है वे हैं – 

  1. सामान्य अध्ययन: सामान्य अध्ययन एक महत्वपूर्ण विषय है जिसमें इतिहास, भूगोल, भारतीय राजनीति, आर्थिक विकास, विज्ञान और प्रौद्योगिकी आदि शामिल होते हैं। इसे भी सामान्य अध्ययन का पेपर कहा जाता है।
  2. राजनीति विज्ञान: राजनीति विज्ञान और विश्लेषण क्षेत्र में अच्छी जानकारी होना चाहिए, जैसे की भारतीय संविधान, राजनीतिक नीतियाँ, आदि।
  3. लेखनी: एक अच्छे लेखक बनने के लिए आपको निबंध, रिपोर्ट, विवरण, और अन्य लेखन कौशल की जानकारी होनी चाहिए।
  4. अंग्रेजी: IAS परीक्षा में अंग्रेजी का भी अच्छा ज्ञान होना चाहिए, क्योंकि कई प्रश्न इस भाषा में पूछे जाते हैं।

ये कुछ मुख्य विषय हैं, लेकिन आपको इसके अतिरिक्त अन्य विषयों में भी रुचि और ज्ञान होना चाहिए। तैयारी के दौरान, आपको सामान्य अध्ययन, सामान्य विज्ञान, गणित, हिंदी और अंग्रेजी के पेपर्स की भी तैयारी करनी होगी।

IAS के लिए आयु क्या है ? 

वर्ग UPSC  न्यूनतम  आयु  UPSC अधिकतम आयु
सामान्य श्रेणी (General Category) आयु 21 वर्षआयु 32 वर्ष
EWSआयु 21 वर्ष आयु 32 वर्ष 
SC/STआयु 21 वर्ष आयु 37 वर्ष 
IAS OBC Age Limitआयु 21 वर्ष आयु 35 वर्ष 
  •  सामान्य श्रेणी (General Category) के उम्मीदवारों के लिए न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 32 वर्ष होती है।
  • आयु की गणना परीक्षा के वर्ष की 1 अगस्त से की जाती है। विभिन्न आरक्षित श्रेणियों के उम्मीदवारों को अधिकतम आयु सीमा में छूट प्रदान की जाती है। उदाहरण के लिए, अनुसूचित जाति (SC) और अनुसूचित जनजाति (ST) के उम्मीदवारों के लिए अधिकतम आयु सीमा में 5 वर्ष की छूट होती है, जिससे उनकी अधिकतम आयु सीमा 37 वर्ष हो जाती है।
  • अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) के उम्मीदवारों के लिए अधिकतम आयु सीमा में 3 वर्ष की छूट होती है, जिससे उनकी अधिकतम आयु सीमा 35 वर्ष होती है।
  • दिव्यांग (PwD) उम्मीदवारों को भी आयु सीमा में 10 वर्ष की छूट मिलती है। यह आयु सीमा उन उम्मीदवारों को ध्यान में रखकर निर्धारित की गई है, जो विभिन्न पृष्ठभूमियों से आते हैं और उनके लिए समान अवसर सुनिश्चित करती है।

IAS की तैयारी कैसे करे ?

1 . सिलेबस का अध्ययन करें 

सबसे पहले आप upsc के सिलेबस को अच्छे तरीके से पड़ ले और समझे की सिलेबस में आखिर दिया क्या हुआ है।  समझने की कोशीश करे की upsc आप से चाहती क्या है कम से कम upsc सिलेबस को चार – से पांच बार पड़ने की कोशिश करे यदि आपको सिलेबस समझ नहीं आ रहा है तब आप किसी भी वेबसाइट या यूट्यूब चॅनेल पर जा कर डिटेल्स से विडिओ देख सकते है।  इससे आपको सिलेबस समझने में आसानी होगी। क्योकि सिलेबस में upsc एग्जाम के बारे में सभी जानकरी दी जाती  है।

2 . पुराने पेपर को पड़े

upsc एग्जाम की तैयारी करने से पहले आपको इसके सभी पुराने पेपर को पड़ना और समझना होता हैं चाहे वह प्रीलिम्स हो या मैन्स।  पुराने पेपर से आपको यह सहायता मिलती है की upsc कैंडिडेट से कैसे सवाल   पूछ रही है। यह एक गाइडेंस का काम करता है इसको समझकर ही आपको आने वाले एग्जाम की तैयारी शुरू करनी चाहिए।  पूर्व मॉडल पेपर्स का अध्ययन करें और उन्हें हल करें। यह आपको परीक्षा के पैटर्न और प्रश्नों की ज्ञान में मदद करेगा।

3 . टाइम टेबल बनाए

एक अच्छी तैयारी के लिए समय प्रबंधन करें। नियमित अध्ययन का समय निकालें और उसे पूरा करने का प्रयास करें। भारतीय संविधान, भारतीय राजनीति, आर्थिक विकास, भूगोल, इतिहास, आदि जैसे मौलिक स्थितियों को अच्छे से समझें और उनकी तैयारी करें।

4 . करंट अफेयर्स से जुड़े रहे

समाचार, अखबार, और करंट अफेयर्स से अपडेट रहें। सामान्य ज्ञान और सामयिक घटनाओं को अच्छे से ध्यान से पढ़ें।

5 . NCERT पड़े

अपना बेसिक कॉन्सेप्ट तैयार करने के लिए 6 से लेकर 12 तक की NCERT को पड़े।  नियमित रूप से प्रैक्टिस पेपर्स और मॉक टेस्ट्स दें।

6 . सबसे महत्वपूर्ण विषयों पर ध्यान दें

सबसे महत्वपूर्ण विषयों को प्राथमिकता दें और उन्हें अच्छे से समझें और तैयारी करें।अपनी प्रगति को समझने के लिए नियमित रूप से खुद को एवैल्यूएट करें और अपने कमजोर और मजबूत पक्षों पर काम करें।इन उपायों को अपनाकर आप अच्छी तैयारी कर सकते हैं और आईएएस परीक्षा में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। ध्यान दें कि संवेदनशीलता, निरंतरता, और मेहनत में यह सबसे महत्वपूर्ण होता है।

7 .रिविज़न करते रहे 

रिवीजन तैयारी की एक अत्यंत महत्वपूर्ण चरण है, जिससे आप अपनी तैयारी को मजबूत बना सकते हैं। अधिक अभ्यास करें और अधिक प्रैक्टिस पेपर्स दें। इससे आपका स्वायत्तता में सुधार होगा और आपकी तैयारी मजबूत होगी।

8 . मॉक टेस्ट दे 

UPSC परीक्षा की तैयारी में मॉक टेस्ट देना बहुत महत्वपूर्ण है। यह आपकी तैयारी को जांचने और सुधारने में मदद करता है।कई वेबसाइट्स UPSC के मॉक टेस्ट प्रदान करती हैं जैसे कि Unacademy, Gradeup, ClearIAS, Vision IAS, Insights IAS आदियदि आप किसी कोचिंग संस्थान से जुड़े हैं, तो वहां भी मॉक टेस्ट दिए जाते हैं।

FAQs on IAS kaise bante

IAS बनने के लिए इतिहास, भूगोल, भारतीय राजनीति, आर्थिक विकास, विज्ञान और प्रौद्योगिकी आदि विषयों को पड़ना पड़ता है।

किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होना है और आपकी आयु न्यूनतम 21 वर्ष होनी चाहिए

आईएएस अधिकारी को दो साल का प्रशिक्षण पूरा करना होगा। लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी में पहले चार महीने एक फाउंडेशन कोर्स (एलबीएसएनएए) होगा। आईएएस प्रशिक्षण सत्र पूरा होने के बाद उम्मीदवारों को आईएएस अधिकारियों के रूप में नियुक्त किया जाएगा।

IAS बनने की न्यूनतम उम्र 21 वर्ष होती है और अधिकतम उम्र 32 वर्ष होती है, जिसमें अनुसूचित जाति/जनजाति (SC/ST) और अनुसूचित जनजाति (OBC) अभ्यर्थीयों को ऊपर से 5 वर्ष की छूट मिलती है।

32 वर्ष की उम्र में उम्मीदवारों को अवांछित जाति के लिए छूट मिलती है, जिससे कि उन्हें 35 वर्ष तक का समय होता है। इसके अलावा, विशेष अधिसूचनाओं के अनुसार यह उम्र सीमा में बदलाव हो सकता है, इसलिए अधिकतम उम्र निर्धारित नहीं है।

IAS(Indian Administrative Service) Full Form in Hindi भारतीय प्रशासनिक सेवा है।

 इस परीक्षा के लिए आपको कम से कम रोजाना 8 से 10 घंटे पढ़ने की जरूरत है.

8 thoughts on “IAS kaise bante hain puri jankari 2024 – जानिये IAS कैसे बने 12th के बाद ”

  1. Hi
    Sir humein books mein badi confusion hoti hai
    Please humein Hindi medium books ke bare mein bata do upsc ke ias ki taiyari ke liye

    Reply
    • यूपीएससी स्नातक में अंकों के आधार पर उम्मीदवारों के साथ कोई भेदभाव नहीं करता है। इसलिए, आईएएस पात्रता शर्त के रूप में कोई न्यूनतम योग्यता प्रतिशत नहीं है। इसलिए आप फॉर्म भर सकते है

      Reply
  2. hello sir
    humara question hai ki kya ias bane ke liye best coaching classes join krna jruri hai kya hum ghar se ias ke tayari nahi kr sakte agear hai to kese

    Reply

Leave a Comment