आईएएस कैसे बने | IAS ऑफिसर बनने की पूरी जानकारी

क्या आप भी आईएएस बनना चाहते है या सोच रहे है। आईएएस बनना किसी जंग से कम नहीं होता है यह एग्जाम भारत का एक लोकप्रिय और पावॅर फुल एग्जाम  माना जाता है।  आईएएस कैसे बने  हमारे भारत में सरकार की तरफ से बहुत से ऐसे एग्जाम होते है

जिनके लिए स्टूडेंट हर साल एग्जाम की तैयारी करते है जैसे – UPSC, MPPSC , RPSC  आदि छोटे – बड़े एग्जाम करवाती रहती है।  इन्ही  एग्जाम मे से लाखो बच्चे 12 वी के बाद आईएएस कैसे बने या आईएएस बनने के लिएUPSC यूनियन पब्लिक सर्विस  एग्जाम की तैयारी करते है।

यह एग्जाम इतना पावर फुल होता है की बहुत से कैंडिडेट डॉक्टर,इंजीनयर,टीचर बनने के बाद भी इस एग्जाम को  क्वालीफाई करते है। तो आप क्या सोच रहे है क्या आप भी आईएएस ऑफिसर बनना चाहते है एक आईएएस अफसर बन कर देश कि सेवा और अपना नाम रोशन करना चाहते है तो हमारे साथ जरूर बने रहे और इस आर्टिकल को पूरा जरूर पड़े।

कुछ ऐसे कैंडिटेड होते है जो एक आईएएस अफसर बनने का सपना तो देख लेते है लेकिन उनको सही जानकारी न होने  से वह अपना गोल नहीं बना पाते है और कुछ ऐसे होते है जिनको इस एग्जाम के बारे में कुछ  मालूम नहीं रहता और जा कर एग्जाम देने बैठ जाते है।

इस एग्जाम को क्लियर करने के लिए परीक्षा की सटीक जानकारी , स्मार्ट प्रेपरेशन , मेहनत और लगन की आवयश्कता होती है साथ ही आपको यह पता होना चाहिए की सिलेबस में आप से  क्या – क्या पूछा जा रहा है। जब तक आपको इन सब बातो की जानकारी नहीं होती है आप इस एग्जाम को क्लीयर कर ही नहीं पाएंगे।

आईएएस कैसे बने (how to become IAS officer)


आईएएस कैसे बने
आईएएस कैसे बने

आईएएस बनने के लिए आपको सबसे पहले UPSC की जानकारी होना आवयश्क है।

Upsc exam की जानकारी 

UPSC सिविल सेवा परीक्षा ( Civil Services Examination ) भारत में भारतीय प्रशासनिक सेवा आईएएस ,भारतीय विदेश सेवा (IFS ) और भारतीय पुलिस सेवा (IPS )सहित भारत सरकार की उच्च  सिविल सेवाओं में भर्ती के लिए Union Public Service Commission UPSC  यानी संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित एक नेशनवाइड कॉम्पिटिटर परीक्षा होती है।

भारत सरकार हर साल UPSC का एग्जाम कंडक्ट करवाती है जिसको क्वालीफाई करने के बाद आईएएस कैसे बने IAS ,IPS,  IFC  आदि ओफिसर का पद आपको मिलता है।

आईएएस का एग्जाम डायरेक्ट नहीं होता है इसका पद हमें  UPSC एग्जाम को क्लियर करने के बाद ही मिलता है यह जॉन होते है जैसे – IAS , IPS ,IFSC , IFS  आदि जो UPSC एग्जाम क्लियर होंने के बाद ही आप एक आईएएस officer बनते है।

आईएएस क्या है

आईएएस का अर्थ भारतीय प्रशासनिक सेवा (Indian Administrative Service) होता है । भारतीय प्रशासनिक सेवा में सेलेक्टेड एक अधिकारी को कलेक्टर, कमिश्नर, सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों के प्रमुख,मुख्य सचिव, कैबिनेट सचिव आदि जैसी बहुत से पदों में एक्सपोजर मिलता है।

आईएएस एलिजिबिलिटी या क्वालिफिकेशन 

  • उम्मीदवार भारतीय नागरिक या इण्डिया ,नेपाल ,भूटान  का होना चाहिए  है।
  • आपकी ग्रेजुएशन  या डिग्री कम्पलीट होनी चाहिए।
  • आईएएस ऑफ़िसर बनने के लिए 12 वी पास और ग्रेजुएशन का कंपलीट होना जरुरी होता है। ग्रेजुएशन किसी भी सब्जेक्ट से पास होना चाहिए।
  • ग्रेजुएशन और 12 वी में आपका 50 % मार्क्स का होना अनिवार्य होता है।
  • आयु सीमा GN कैटगरी के लिए 21 – 32 साल होती है , और SC /ST कैटगरी के लिए 21 -37 , OBC कैटगरी के लिए 21 -35 आयु सीमा होती है।
  • परीक्षा अटेम्ड की बात की जाय तो GN कैटगरी स्टूडेंट 6  बार इस परीक्षा को दे सकते है और
  • SC /ST कैटगरी के लिए कोई लिमिट नहीं है। OBC कैटगरी 9 बार इस एग्जाम को दे  सकते है।  लेकिन यह अटेम्ड तभी गिना जाता है जब आप इस एग्जाम में बैठते है या इसे देते है।
  • जम्मू कश्मीर में रहने वाले कैंडिटेड OBC कैटगरी आयु सीमा -37 , SC /ST कैटगरी  आयु सीमा – 42 और OBC कैटगरी आयु -40 होती है।

आईएएस एग्जाम पेटर्न को समझे

जैसे की आप जानते है आईएएस बनने के लिए हमे UPSC का एग्जाम देना होता है जोकि यह तीन चरणों में कम्पलीट होता है।

  • प्रिलिम्स एग्जाम
  • मैन्स एग्जाम
  • साक्षात्कार

प्रिलिम्स एग्जाम की जानकारी 

प्रीलिम्स एग्जाम में दो पेपर होते है पहला जनरल स्टडीज और दूसरा CSAT । यह दोनों एग्जाम ऑब्जेक्टिव होते है। दोनों पेपर 200 -200 मार्क्स के रहते है लेकिन दोनों पेपर में प्रश्न अलग – अलग दिए जाते है। पहले पेपर में 100 प्रश्न होते है और दूसरे पेपर में 80 प्रश्न पूछे जाते है।

यह एग्जाम हिंदी या इंग्लिश दोनों भाषाओं को प्रेफर करता है। आप किसी एक भाषा को चुन कर इस एग्जाम को दे सकते। यह आप पर निर्भर करता है की आप किस भाषा में कन्फर्टेबल है। लेकिन प्रिलिम्स एग्जाम में 1/3 माइनस मार्किंग रहती है।

मैन्स एग्जाम की जानकारी 

जैसे ही प्रिलिम्स एग्जाम को पास कर लेते है उसके बाद आती है मेंस की बारी जिसे निकालना अभ्यर्थी के लिए बड़ा टास्क होता है।  यह लिखित एग्जाम होता है जिसमे आप से 9 प्रकार के प्रश्न पत्र पूछे जाते है।दो पेपर लैंग्वेज के होते हैं जो क्वालीफाइंग होते है इसमें 33 फीसदी नंबर चाहिए होते है। और बाकी 7 पेपर करने के बाद ही आपकी मैरिड लिस्ट बनती है। UPSC Mains एक ऑफलाइन परीक्षा है।प्रत्येक पेपर 250 -अंक और 3 घंटे का रहता है।

साक्षात्कार 

प्रिलिमस +मैन्स  का एग्जाम क्लियर करने के बाद आपका फाइनल  इंटरव्यू  किया जाता है। और जब आप इसमें पास हो जाते है तब आप एक आईएएस या IPS का पद हासिल कर लेते है।

आईएएस बनने के लिए सिलेक्शन प्रोसेस

 बारवीं पास करे 

यदि आप 12 वी में है या अभी कर रहे है तो पहले आप को 12 वी पास कर लेना चाहिए । बारवी किसी  भी विषय से कर सकते है चाहे वह आर्ट हो साइंस हो या कॉमर्स। उसके बाद आप आईएएस की तैयारी में लग सकते है।

  ग्रेजुएशन कम्पलीट करे 

जैसे ही आपकी बारवी होती है फिर आपको ग्रेजुएशन या स्नातक  डिग्री को कम्पलीट करना है। जिसमे आपके मिनिमम 50 % माक्स होने चाहिए। अगर आपने BA , B.COM , B.SC, engineer, doctor या कोई भी डिग्री कोर्स किया हो तो आप UPSC का एग्जाम देने के लिए एलिजिबल होते है।

 UPSC का एप्लीकेशन फॉर्म भरें

UPSC FORM  मार्च या सितंबर के महीनो में भरे जाते है आप तब जाके  फॉर्म को APLY कर सकते है । UPSC का फॉर्म भरने के बाद ही आपको यह एग्जाम देने को मिलता है और फिर आप आईएएस ,IPS , IFC  आदि बनते है। समझले के यही रास्ता होता है आईएएस तक पहुंचने के लिए।

 अब प्रिलिम्स एग्जाम को क्लियर करे

जैसे की अब आपको पता है की प्रिलिम्स एग्जाम को पास करने के बाद ही आप नेक्स्ट एग्जाम लेवल तक पहुंचते  है इसमें आपको पास आउट तक नंबर की जरुरत होती है।  दोनों पेपर अलग – अलग टाइम में किये जाते है लेकिन यह एग्जाम एक ही दिन में होता है।

मेंन एग्जाम को क्लियर करे

प्रिलिम्स एग्जाम को पास करने के बाद आप का दूसरा लेवल main exam होता है और काफी लम्बे समय तक इसका पेपर होता है क्योकि  इसमें 9 प्र्शन पत्र मौजूद होते है।  एक मॉर्निंग टाइम में पेपर होता है और एक आफ्टरनून में।

 अब इंटरव्यू को क्लियर करे

इंटरव्यू  आपका लास्ट लेवल है जिसे आपको क्वालीफाई करना होता हैं।  इसमें आपकी बॉडी लैंग्वेज और दिमाग के थॉट को चेक किया जाता है। की आप क्या सोचते है किसी भी मुश्किल को कैसे सभांल पाएंगे या नहीं। जो पेनल आपका इंटरव्यू  लेते है वह आपसे ट्रिकी और कन्फूशन वाले सवालो के ज़वाब मांगते है।

  मेरिट लिस्ट में नाम आना  

सभी एग्जाम में पास होने के बाद UPSC मेरिट लिस्ट को तैयार करती है जिससे  यह पता चलता है की कोन एग्जाम में क्वालीफाई है और कोन फ़ैल। अगर आपका नाम मेरिट लिस्ट में आ जाता है तब आपको रैंकिंग में शामिल किया जाता है।

जिसमे आपकी रैकिंग के हिसाब से आपकी पोस्ट को काउंट कि जाती है प्रथम या दूसरा तब जाके आप  एक आईएएस ऑफ़िसर  बनकर निकलते है।उसके बाद आपकी लास्ट मे ट्रैनिग की जाती है

यह ट्रैनिंक आपकी LBSNAA में होती है लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी (LBSNAA), मसूरी भारत में सिविल सेवाओं के लिए एक प्रमुख प्रशिक्षण संस्थान होता है।

आईएएस की सैलरी जाने

आईएएस बनने के बाद शुरुआत की सेलरी 56,100 रुपये होती है लेकिन  इस सेलरी के साथ आईएएस अधिकारी को यात्रा भत्ता और महँगाई भत्ता एवं अन्य भत्ते की सेलरी को भी ऐड किया जाता है।  इन सबको जोड़कर  की सैलरी एक महीने की 1 लाख़ से ऊपर बनाई जाती है।आईएएस कैसे बने

निष्कर्ष

आज आपने क्या सीखा आईएएस कैसे बने इसका निष्कर्ष यह निकलता है की यदि आप एक आईएएस ऑफ़िसर बनना  चाहते है तब आपको इस एग्जाम की तैयारी के लिए जुट जाना चाहिए  लेकिन यह एग्जाम इतना सरल नहीं होता है।

जितना हम  समझे है इसमें काफी हार्ड वर्क के साथ स्मार्ट वर्क ज्यादा करना होता है। अपनी सोच के साथ – साथ आईएएस कैसे बने आपने दिमाग को तेज़ करना होता है यह सब क्वॉलिटी आप को एक IAS बनाती है।

4 thoughts on “आईएएस कैसे बने | IAS ऑफिसर बनने की पूरी जानकारी”

  1. Hi
    Sir humein books mein badi confusion hoti hai
    Please humein Hindi medium books ke bare mein bata do upsc ke ias ki taiyari ke liye

    Reply

Leave a Comment